विधुत विभाग के कर्मचरियो से परेशान आम लोग

0
29
पत्रकार-मनोज कुमार शिवहरे

माधौगढ़ योगी जी की सरकार में अधिकारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। खासकर बिजली विभाग के कर्मचारी,बिना पैसे के कोई काम नहीं करना चाहता है। बेशक ऊर्जा लाख दावे करें लेकिन उनके नुमाईंदे अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहे हैं। बिजली विभाग के अधिकारी से किसी मामले पर बात बिगड़ जाए तो तत्काल फर्जी बिजली चोरी की रिपोर्ट दर्ज हो जाएगी और रिश्वत देते रहो तो चक्की भी चोरी से चलती रहेगी। मामला है एसडीओ कार्यालय का,जहाँ अशोक कुमार पुत्र गौरीशंकर निवासी मिझौना अपने निजी बोरिंग की टेक्निकल रिपोर्ट पर हस्ताक्षर के लिए चक्कर लगा रहे हैं। जेई ने स्टीमेट तैयार कर दिया लेकिन एसडीओ के ऊपर पीड़ित ने रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है। पीड़ित ने कहा कि एसडीओ ने पहले हस्ताक्षर करने से मना किया। बाद में अपने सहयोगी के माध्यम से एक हजार रुपये मांगे। रिश्वत देने से मना किया तो स्टीमेट पर समय न होने की बात कहकर हस्ताक्षर नहीं किये। एसडीओ के रिश्वत को लेकर इसके पहले भी कई मामले प्रकाश में आ चुके हैं। जिन पर उच्च अधिकारियों द्वारा जांच की गई थी। वल्कि एक मामले में एसडीओ को बैकफुट पर आकर खामियाजा भी भुगतना पड़ा था।

Loading...