नई दिल्ली। आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर की आने वाले दिनों में मु्श्किलें बढ़ सकती है। केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने आईसीआईसीआई बैंक लोन मामले में अपने शुरुआती जांच शुरू कर दी है। 

कंपनी की सीईओ चंदा कोचर पर हितों के टकराव, अपनी पहुंच का बेजा इस्तेमाल करने और परिवारिक सदस्यों फायदा पहुंचाने और दूसरी कंपनी को मोटा लोन दिलाने में अहम रोल निभाने के गंभीर आरोप लगे हैं। सीबीआई जल्द ही वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज के मालिक और दीपक कोचर से भी पूछताछ कर सकती है। 

बता दें कि कल ही इस मामले में बाजार नियामक सेबी भी हरकत में आ गई थी। सेबी आईसीआईसीआई बैंक के विवादों में आने के बाद इस केस से जुड़ी सूचनाओं और कंपनी संचालन को लेकर पूछताछ शुरु कर दी है। साथ ही वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज और इसके प्रमोटर पर भी नियामक बोर्ड नजरें जमाए हुए है। 

इससे पहले, आईसीआईसीआई बैंक के डायरेक्टर बोर्ड ने चंदा कोचर पर अपना पूरा विश्वास जताया है। साथ ही साफ किया है कि कंपनी ने लोन बंटवारे में सारे नियमों का पालन किया है। इसमें कोई हितों के टकराव का मामला नहीं बनता है। 

पिछले हफ्ते कुछ मीडिया खबरों आई थीं कि वीडियोकॉन समूह को आईसीआईसीआई बैंक ने कर्ज देने के एवज में कुछ लेन-देन की थी और इसमें कोचर और उनके परिवार के सदस्यों की कथित भूमिका थी। वीडियोकॉन ग्रुप और दीपक कोचर की कंपनी न्यू पॉवर रिन्यूएबल्स के बीच लेन-देन पर भी सवाल उठ रहे हैं।