विदेशी मुद्रा प्रकरण: राहत फतेह अली खान पर ED का शिकंजा

0
100

पाकिस्तानी सिंगर राहत फतेह अली खान को प्रवर्तन निदेशालय ने फेमा उल्लंघन मामले में नोटिस भेजा है। आपको बता दें कि वर्ष 2011 के विदेशी मुद्रा जब्त होने के संबंध में पाकिस्तानी गायक राहत फतेह अली खान और उनके सहयोगियों के खिलाफ विदेशी मुद्रा विनिमय उल्लंघन के तहत मार्च 2014 में केस भी दर्ज किया गया था।

अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि इस मामले में हाल में जांच पूरी होने के बाद दो करोड़ रुपए के विदेशी मुद्रा कोष उल्लंघन को लेकर फेमा के तहत नोटिस जारी किया गया। उन्होंने बताया कि भारत और पाकिस्तान में लोकप्रिय सूफी गायक को 45 दिनों में नोटिस का जवाब देने को कहा गया है।

राजस्व खुफिया निदेशालय ने खान और उनके प्रबंधक मरूफ अली खान को 2011 में यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पकड़ा था और उनके पास से अघोषित 1.24 लाख डॉलर और कुछ अन्य सामान कथित रूप से जब्त किया गया था। इसके बाद जांच एजेंसी ने राहत अली खान और उनके सहयोगियों के खिलाफ 2014 में फेमा के तहत जांच आरंभ की थी। 

फेमा के तहत विदेशी मुद्रा उल्लंघन के ऐसे मामलों की जांच करने वाली केंद्रीय एजेंसी ईडी पहले भी गायक से इस बारे में पूछताछ कर चुकी है। गायक ने उस समय कहा था कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है। उन्होंने कहा था कि वह एक समूह के साथ सफर कर रहे थे इसलिए वह इतनी अधिक नकद राशि ले कर जा रहे थे। 

गौरतलब है कि राहत फतेह अली खान ने बॉलीवडु में साल 2003 से करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने फिल्म पाप में ‘लागी तुझसे मन की लगन’ गाना गाया और फिल्म ‘इश्किया’ के गाने ‘दिल तो बच्चा है जी’ के लिए राहत को फिल्म फेयर अवॉर्ड मिल चुका है।

Loading...