गुजरात के सूरत से मनी लांड्रिग के केस में किशोर भजियावाला को गिरफ्तार कर लिया गया है। किशोर भजियावाला पर आरोप है कि नोटबंदी के दौरान उसने बडे पैमाने पर पुराने नोट बदवाए थे।

नोटबंदी के समय किशोर भजियावाला के पास से एक करोड दो लाख रुपये के नए नोट बरामद हुए थे। आशंका जताई जा रही है कि भजियावाला का साठ-गांठ कई बैंक कर्मियो से है।

आईटी को 400 करोड़ की संपत्ति मिली है। जिसमें जमीन के कागजात चार लॉकरों से 2 किलोग्राम सोने के आभूषण भी बरामद किए गए हैं। आयकर विभाग ने भाजियावाला के 8 लॉकरों को खंगाला है जिसमें करीब 13 किलो सोना, 1 किलो चांदी और हीरे के जेवरात मिले हैं। भाजियावाला सूद का कारोबारी है।

भाजियावाला के पास कुल 30 बैंकों में खाते हैं, जिनमें नोटबंदी के बाद पैसे जमा कराए गए हैं। जांच टीम ने भाजियावाला के कई ठिकानों पर छापेमारी की है।