सुप्रीम कोर्ट ने एआईएडीएमके (अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम) में दरकिनार की जा चुकीं और आय से अधिक संपत्ति मामले में जेल में कैद जेल में बंद वी.के शशिकला के पति एम नटराजन को टैक्स चोरी के मामले में सरेंडर करने का आदेश दिया है.

शीर्ष अदालत ने यह भी आदेश दिया कि वे रजिस्ट्री में 25 लाख रुपए की राशि जमा कराएं. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने यह आदेश पारित किया.

पीठ ने कहा कि वे निचली अदालत से संपर्क करें जो उनकी जमानत की शर्तों के बारे में फैसला करेगी.

गौरतलब है कि मद्रास हाई कोर्ट ने बीते 17 नवंबर को निचली अदालत के उस फैसले को बरकरार रखा जिसमें नटराजन, वी भास्करन, योगेश बालकृष्णन और सुजारिता सुंदरराजन को 23 साल पुराने मामले में दो साल की सजा सुनाई गई थी. हाल ही में एम नटराजन की चेन्नई के एक अस्पताल में किडनी और लीवर ट्रांसप्लांट की सर्जरी हुई थी. तब पति का हाल-चाल लेने शशिकला भी 5 दिन के पैरोल पर जेल से बाहर आई थीं.

शशिकला के पति नटराजन से जुड़ा यह मामला साल 1994 का है. नटराजन पर लंदन से एक लग्जरी कार मंगाने और उसके बिल में धोखाधड़ी के आरोप थे. इस मामले में लोअर कोर्ट ने उन्हें साल 2010 में 2 साल की सजा सुनाई थी.