उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज में संदिग्ध आतंकियों और एटीएस के बीच मुठभेड़ जारी है। पुलिस को ठाकुरगंज के हाजी कॉलोनी में आतंकियों के छिपे होन की खबर मिली थी। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने कार्रवाई शुरू की। संदिग्ध आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर गोली चलाई, जिसके बाद एटीएस ने इलाके की घेरेबंदी कर ऑपरेशन शुरू कर दिया है। उत्तर प्रदेश के डीजीपी जावीद अमहद ने कहा कि संदिग्ध आतंकी को सरेंडर करने के लिए कार्रवाई की जा रही है।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी ने कहा कि उज्जैन ट्रेन धमाके से संदिग्ध आतंकी के तार जुड़े हो सकते हैं। दलजीत चौधरी ने कहा कि ऑपरेशन जारी है। उन्होंने कहा कि घर में 1 से ज्यादा संदिग्ध आतंकी हो सकते है और काफी हथियार भी हो सकते हैं।

दलजीत चौधरी ने कहा, ‘कानपुर और लखनऊ में कुछ आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी। हमारे वरिष्ठ अधिकारी तलाशी अभियान चला रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘कानपुर के आतंकियों को हिरासत में ले लिया गया है वहीं लखनऊ के आतंकियों को भी जिंदा पकड़ने की कोशिश की जा रही है।’ पुलिस के मुताबिक 20 कमांडो को सर्च ऑपरेशन के लिए तैनात किया गया है। पुलिस भी ऑपेशन में शामिल है।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने ट्वीट कर कहा, ‘यूपी एटीएस को  लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में संदिग्ध आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली है। ऑपरेशन जारी है।’ 

खबर है कि संदिग्ध आतंकियों ने खुद को कमरे में बंद कर लिया है और उनके हाथ में लोडेड पिस्टल है। यूपी एटीएस के मुताबिक, ‘आंसू गैस का गोला छोड़ा गया है ताकि उसको पकड़ा जा सके। अभी तक गोली चलाने की नौबत नहीं आई है।’ पुलिस के मुताबिक संदिग्ध आतंकी का नाम सैफुल्लाह है। जो लखनऊ का रहने वाला है।