कोलकाता। पश्चिम बंगाल में आये दिन सामुदायिक हिंसा व झड़पों के बीच अब हालात इस हद तक बद्तर हो चुके है कि भारी सुरक्षा इंतजामों के बीच आज चुनाव तक शांतिपूर्वक करवाना संभव नहीं रह गया है। हिंसा का आलम यह है कि राज्य के पंचायत चुनाव के दौरान 24 परगना जिले में टीएमसी कार्यकर्ता आरिफ गाजी की गोली मारकर हत्या की गई है। जिसके बाद इलाके में हालात तनावपूर्ण हो गए हैं। 


पश्चिम बंगाल के 20 जिलों में पंचायत चुनावों के लिए वोटिंग जारी है। इस दौरान जगह-जगह हुई हिंसा में अब तक कम से कम छह लोगों की मौत हो गई है। वहीं कई जगहों पर बूथ कैप्चरिंग की कोशिश की भी मामला सामने आई है।
मतदान शाम पांच बजे तक चलेगा और 17 मई को नतीजे आएंगे। चुनावों में सुरक्षा को देखते हुए पड़ोसी राज्य असम, ओडिशा, सिक्किम और आंध्र प्रदेश से करीब 1,500 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।
ग्राम पंचायत, पंचायत समिति और जिला परिषद स्तर पर 58,692 सीटों में से इस बार 38,616 सीटों के लिए ही मतदान हो रही है। वहीं बाकी की करीब 34.2 प्रतिशत सीटें पहले निर्विरोध रूप से सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के खाते में चली गई हैं।