‘देशभक्त’ गोडसे पर मोदी का बयान से राजनीति में हडकंप

0
162

नयी दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भोपाल लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे के बारे में दिये गये बयान पर मचे बवाल पर आखिरकार चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि वह इसके लिए उन्हें जीवन भर माफ नहीं कर पायेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने एक टेलीविजन चैनल के साथ साक्षात्कार में कहा कि साध्वी प्रज्ञा का बयान निंदनीय और अस्वीकार्य है। गलती से भी ऐसी गलती नहीं होनी चाहिए और कोई भी बात सोच समझकर कही जानी चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा ,“ उन्होंने अपने बयान के लिए माफी मांग ली है लेकिन मैं मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा। जीवन भर माफ नहीं कर पाऊंगा। ”

मोदी ने भाजपा के टि्वटर हैंडल पर भी कहा , “ गांधी जी या गोडसे के बारे में जो बयान दिए गए हैं वो बहुत ख़राब हैं और समाज के लिए बहुत गलत हैं। ये अलग बात है की उन्होंने माफ़ी मांग ली, लेकिन मैं उन्हें मन से कभी माफ़ नहीं कर पाऊंगा। ”साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने एक बयान में कहा था “ गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। उन्हें हिंदू आतंकवादी बताने वाले अपने गिरेबान में झांककर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।” बाद में उन्होंने अपने बयान पर खेद जताते हुए कहा था कि उनका मकसद किसी को ठेस पहुंचाने का नहीं था। वह महात्मा गांधी का सम्मान करती हैं और उन्होंन देश के लिए जो किया उसे भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा, “मेरे बयान से किसी की भावनाओं को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं।”

गौरतलब है कि पूरा विवाद तब शुरू हुआ जब अभिनेता से राजनेता बने कमल हसन ने अपने एक बयान में गोडसे की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिंदू था।

Loading...