पश्चिम अफ्रीका के बेनिन तट के पास 1 फरवरी को लापता हुए तेल टैंकर मरीन एक्सप्रेस का पता लगा लिया गया है. इस तेल टैंकर के चालक दल के सभी 22 भारतीय सदस्यों को बरामद कर लिया गया है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘मुझे आपको यह जानकारी देते हुए खुशी हो रही है कि मर्चेंट शिप मरीन एक्सप्रेस को छोड़ दिया गया है. इस पर 22 भारतीय नागरिक सवार थे.

विदेश मंत्रालय ने इस मामले में मदद के लिए नाइजीरिया और बेनिन की सरकार का धन्यवाद किया. सुषमा ने लापता तेल टैंकर को ढूंढने में मदद के लिए सोमवार को नाइजीरिया के विदेश मंत्री से बात की थी.

मुंबई में नौवहन की महानिदेशक मालिनी शंकर ने मंगलवार को कहा, ‘मरीन एक्सप्रेस नाम के जहाज को छोड़ दिया गया है और यह अब कप्तान की कमान में है.’

अभी यह साफ नहीं है कि पोत और सामान को छुड़ाने के लिए फिरौती दी गई है या नहीं. मरीन एक्सप्रेस को बेनिन में गिनी की खाड़ी में बीते 1 फरवरी को समुद्री डाकुओं ने अगवा कर लिया था. पोत पर मौजूद सभी संपर्क प्रणालियों को समुद्री डाकुओं ने बंद कर दिया था.

अधिकारियों ने बताया कि समुद्री डाकुओं ने 4 दिन बाद चालक दल के सभी सदस्यों को छोड़ दिया है. वो सब सुरक्षित हैं और जहाज ने आगे का अपना सफर शुरू कर दिया है. मरीन एक्सप्रेस जहाज में अब भी 13,500 टन गैसोलिन है.