अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आतंकवाद के मुद्दे पर सख्त हैं. ट्रंप ने पाकिस्तान और चीन को कड़ा संदेश देते हुए कहा है कि वह आतंकवाद के मुद्दे पर भारत के पड़ोसियों का दोहरा चरित्र बरदाश्त नहीं करेंगे. भारतीय अमेरिकी बिजनसमैन और रिपब्लिकन हिंदू कोएलिशन के संस्थापक और अध्यक्ष शलभ कुमार ने बताया कि ट्रंप ने अपनी नीति एकदम साफ बतायी है कि वह भारत के पड़ोसियों का दोहरा चरित्र बरदाश्त नहीं करेंगे.

कुमार ने कहा कि दोस्त देशों के बीच बेहतर रक्षा सहयोग होना चाहिए, जो कि हो भी रहा है. लेकिन, ट्रंप आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई भी तेज करने वाले हैं. कुमार ने ट्रंप से भारत-पाकिस्तान रिश्‍ते, भारत-अमेरिका व्यापार, चीन जैसे कई मसलों पर बात की थी. कुमार ने बताया कि ट्रंप भारत-अमेरिका के बीच मौजूदा 100 अरब डॉलर के व्यापार को बढ़ा कर 300 अरब डॉलर तक ले जाना चाहते हैं. इकॉनमिक टाइम्स के मुताबिक, शलभ कुमार के भाजपा और आरएसएस के करीबी रिश्‍ते हैं.

कुमार ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव अभियान के दौरान ट्रंप के लिए न्यू जर्सी में एक रैली का भी आयोजन किया था और ट्रंप के अभियान के लिए छह करोड़ रुपये चंदे में दिये थे. कुमार की बेटी और मिस इंडिया रह चुकीं मनस्वी ममगई ने बताया कि 20 जनवरी को ट्रंप के राष्ट्रपति के तौर पर इनॉगरेशन में बॉलिवुड सिलेब्रिटीज भी पहुंचेंगे. इसमें काफी संख्‍या में भरतवंशी भी हिस्‍सा लेंगे

सीएनएन ने मेरी ‘सबसे खराब’ तसवीर इस्तेमाल की : ट्रंप

ट्रंप ने मंगलवार को शिकायत की कि सीएनएन ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव के बारे में एक नयी किताब में उनकी ‘सबसे खराब’ तसवीर इस्तेमाल की है. ट्रंप ने ट्वीट किया, सीएनएन ने अभी ‘अन्प्रेसिडेन्टिड’ नाम की किताब जारी की है, जो 2016 के चुनाव और जीत के बारे में है. उम्मीद करता हूं कि इसे अच्छी प्रतिक्रिया मिलेगी, लेकिन कवर फोटो के रूप में मेरी सबसे खराब तसवीर इस्तेमाल की गयी है. दिसंबर में जारी हुई कि ताब ‘अन्प्रेसिडेन्टिड’ चुनाव के दौरान लिखी गयी थी और यह ट्रंप की आश्चर्श्यजनक जीत का वृतांत है.

पड़ोसी संग चाहते हैं शांति : नवाज शरीफ

भारत-पाकिस्तान संबंधों में तल्खी के बीच प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक उच्चस्तरीय बैठक बुलायी और पड़ोसी देशों व रणनीतिक साझेदारों के साथ अपने देश के संबंधों की समीक्षा की. शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान इस क्षेत्र के सभी देशों के साथ शांति पूर्ण सह-अस्तित्व में यकीन करता है और उनके साथ मजबूत एवं परस्पर लाभकारी संबंध स्थापित करने को आशावान है. शरीफ ने कहा कि चीन-पाक आर्थिक गलियारा क्षेत्रीय संपर्क और साझा समृद्धि के हमारे प्रयास का आधार है.

मसूद मुद्दे पर मान जायेगा चीन : राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उम्मीद है कि चीन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र की ओर से आतंकी घोषित कराने को लेकर भारत के रुख से सहमत होगा. राजनाथ ने कहा कि हम अब भी चीन से उम्मीद करते हैं कि वह हमारे रुख का समर्थन करेगा. पिछले साल 30 दिसंबर को चीन ने पठानकोट हमले के षड्यंत्रकारी अजहर को आतंकवादी घोषित कराने के भारत के प्रस्ताव पर अड़ंगा लगा दिया था, जिसके बाद भारत ने कहा था कि यह एक ऐसा कदम है, जो आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में दोहरे रवैये को दिखाता है.