जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा : राजनाथ सिंह

0
398

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सुकमा में हुए नक्सली हमले को एक सोची समझी साज़िश बताया है। उन्होंने कहा है कि सुकमा में जो हमला हुआ है वो कायराना है और हम जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे। राजनाथ ने कहा कि 8 मई को इस मुद्दे पर हाईलेवल की बैठक होगी, जिसमें नई रणनीति पर चर्चा होगी। 

सुकमा नक्सली हमले के शहीदों को गृहमंत्री ने रायपुर में दी श्रद्धांजलि दी। उनके साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह और गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर भी मौजूद थे। सीएम रमन सिंह के साथ बैठक के बाद राजनाथ ने कहा कि सुकमा में हमला करना नक्सिलयों की कायराना हरकत को दर्शाता है। हमें सीआरपीएफ के नेतृत्व पर कोई शक नहीं है।

उन्होंने कहा कि सुकमा में जो हमला किया गया है वह बेहद कायरतापूर्ण है। नक्सली आदिवासियों को अपनी ढाल बनाकर विकास के खिलाफ अभियान चला रहे हैं, लेकिन इसमें नक्सली कभी कामयाब नहीं हो पाएंगे। केंद्र और राज्य सरकार साथ मिलकर इस के ख़िलाफ़ कार्रवाई करेंगे। 

उन्होंने कहा कि नक्सलियों द्वारा जवानों पर हमला करना एक कायराना हरकत है। हम हर तरह की नक्सली हमले को चुनौती के तौर पर लेते हैं। बता दें कि इससे पहले गृह मंत्रालय ने इस मामले में सीआरपीएफ को जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है।

हमले के बाद राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार इस हमले को चुनौती की तरह ले रही है। उन्होंने बताया कि इस हमले के दोषियों को बख्‍शा नहीं जाएगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि हम अपनी रणनीति को सभी के सामने नहीं बता सकते हैं। हम अपनी रणनीति पर काम करेंगे और दोबारा से नई रणनीति बनाएंगे। राजनाथ ने कहा कि पिछले काफी समय से राज्य और केंद्र से मिलकर नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाया है, जिससे नक्सलियों के हौसले पस्त हैं।

बता दें कि सोमवार को सीआरपीएफ की 74 वीं बटालियन का एक दल सुकमा में रोड ओपनिंग पार्टी के तौर पर इलाके में गश्त पर था। इसी दौरान दोपहर डेढ़ बजे के करीब चिंतागुफा के पास बुर्कापाल इलाके में करीब 300 नक्सलियों ने सीआरपीएफ जवानों पर घात लगाकर हमला कर दिया। अचानक हुए इस हमले के कारण जवानों को संभलने का मौका नहीं मिला और 25 जवानों की जान चली गई। 

Loading...