कालपी:राजनाथ सिंह की रैली में नहीं दिखी भीड़,

0
58

 

NEWS BY-PRADEEP KUMAR (ORAI)

कालपीउरई : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की कालपी में शनिवार को आयोजित सभा में भीड़ नही जुटी। 

कालपी के विशाल ठक्कर बापा इंटर कालेज में केंद्रीय गृहमंत्री की सभा कराना भाजपा के लोगों के लिए मंहगा पड़ गया। तेज धूप और चुनाव को लेकर उत्साह की कमी की वजह से सभा में भीड़ नही पहुंची। कुर्सियां खाली देखकर ऐन टाइम पर आयोजकों ने पीछे की कनातें खुलवा दीं और कुर्सियां मैदान में ही लेटाकर रखवा दीं तांकि इज्जत बच सके। यहां तक कि राजनाथ सिंह का हैलीकाप्टर उतरने के बाद भी सभा स्थल की ओर लोगों ने रुख नही किया। संचालन कर रहे राजेश सिंह सेंगर को कनात और कुर्सिया हटा रहे टेंट हाउस की लेबर से कहना पड़ा कि गृहमंत्री आ चुके हैं अब आप अपना काम बंद कर दें।

संभवतः राजनाथ सिंह भी सभा में अल्प उपस्थिति के कारण नर्वस हुए बिना नही रहे। उन जैसे कुशल वक्ता के लिए जिनके प्रशंसकों में जालौन में बड़ी संख्या भी है यह स्थिति हतप्रभ करने वाली थी। इस कारण उन्होंने शुरूआत सांसद भानु प्रताप वर्मा को लेकर सफाई देने से की। राजनाथ सिंह ने कहा कि भानु प्रताप वर्मा के बारे में कहा जाता है कि वे कोई काम नही करते लेकिन इस कार्यकाल में उन्होंने बहुत काम किया है। दिल्ली में वे खुद देखते रहे हैं कि किस तरह भानु प्रताप वर्मा क्षेत्र के विकास के कार्यों के लिए मंत्रियों के यहां दौड़ते रहते थे।

संतुलित और सौम्य भाषण में राजनाथ सिंह ने मोदी सरकार की उपलब्धियों का बखान किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनियां के नक्शे पर भारत का मुकाम बहुत बुलंदी पर पहुंचाने का काम किया है। अपने शालीन मिजाज के अनुरूप राजनाथ सिंह ने व्यक्तिगत कटुता को बचाते हुए शुक्रवार को मैनपुरी में हुई गठबंधन की रैली पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि जिनके मन में एक-दूसरे के लिए गांठ है वे मंच पर इकटठा थे। जबकि चुनाव के बाद उन्हें फिर अलग-अलग होना है। उन्होंने कहा कि मोदी से न जीत पाने के डर की वजह से इन लोगों ने बेमेल गठबंधन किया है। राजनाथ सिंह ने दावा किया कि पहले चरण के मतदान के बाद ही चुनाव की तस्वीर साफ हो चुकी है। इसी कारण विपक्षी दल तत्काल ईवीएम पर अपनी हार का ठीकरा फोड़ने की भूमिका बनाने में लग गये थे।

Loading...