कानपुर। स्कूल, काॅलेजों और सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओ ंके साथ छेड़खानी करने वाले असमाजिक तत्वों के खिलाफ चल रहे अभियान में आज कानपुर पुलिस के कप्तान आकाश कुलहरि ने अपने अधीनस्थों को दिशा – निर्देश देते हुए उन्हें माॅरल पुलिसिंग से बचने और सहमति से घूम रहे जोड़ों पर कार्रवाही न करने के स्पष्ट निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि पुलिस किसी भी स्थान पर सिर्फ ऐसे मनचलों पर छेड़खानी की धारा के तहत कार्रवाही करेगी जो वहाँ पर मौजूद महिलाओं को जबरत तंग कर रहे होंगो। उन्होंने इस आॅपरेशन को ‘एंटी ईव टीजिंग स्क्वायड’ नाम दिया।

बैठक के दौरान उन्होंने पुलिस दीदी के नाम से नई सुविधा देने की बात कही। उन्होंने कहा कि पूलिस दीदी की मदद कोई भी लड़की खुद पर हो रहे शोषण के बारे में पुलिस तक सूचना पहुॅचा सकेगी।

मददगार साबित होगी ‘ पुलिस दीदी ’
लड़कियों के लिए कानपुर पुलिस ने सराहनीय कदम उठाते हुए पुलिस दीदी सेवा शुरू करने की कवायद की है। यह सेवा के तहत सभी स्कूलों में शिकायत बाॅक्स लगायें जायेंगे, इन बाॅक्स में लड़कियाँ स्वयं पर हो रहे घरेलू या बाहरी उत्पीडन की शिकायत कर सकेंगी, साथ ही उनका नाम भी गोेपनीय रखा जायेगा।

माॅरल पुलिसिंग से बचे
एसएसपी आकाश कुलहरी ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोई भी पुलिसकर्मी एंटी ईव टीजिंग दल की शह पर माॅरल पुलिसिंग करने की कोशिश न करे। उन्होंने कहा कि किसी भी सार्वजनिक जगह पर पुलिस किसी भी ऐसे जोड़े को नहीं पकडेगी जो आपसी सहमति से वहां पर गये हो। साथ ही उन्होंने प्रेमी जोड़ो से धनउगाही न करने की सलाह दी।

सरकार की पहल है एंटी रोमियो दल
शहर में चल रहा एंटी ईव टीजिंग अभियान दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार के एंटी रोमियो दल का ही प्रारूप है। इस दल का उद्देश्य सूबे में महिलाओं को सुरक्षित और बेखौफ माहौल मुहैया कराना है।